सॉफ्टवेयर इंजीनियर कैसे बनें?

आज के समय में जिस तरह से टेक्नोलॉजी आगे बढ़ती जा रही है लोगों की  पसंद भी कंप्यूटर और इंटरनेट की दुनिया की तरफ काफी बढ़ती नजर आती है भारत में लाखों-करोड़ों बच्चे ऐसे हैं जिन्हें कंप्यूटर और इंटरनेट है और सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनना पसंद करते  हैं

लेकिन उन्हें सही गाइडेंस और सही जानकारी नहीं प्राप्त होने की वजह से वह सॉफ्टवेयर इंजीनियर नहीं बन पाते हैं जिस तरह से टेक्नोलॉजी आगे बढ़ती जा रही है अगर आप टेक्नोलॉजी के साथ साथ आगे नहीं बढ़ोगे

तो आप काफी पीछे रह जाओगे क्योंकि टेक्नोलॉजी की दुनिया लेटेस्ट टेक्नोलॉजी पर ही निर्भर होने वाली हैं तथा आज लोग जो भी काम करना चाहते हैं उनमें कंप्यूटर निश्चित रूप से शामिल रहता ही रहता है

कंप्यूटर एक ऐसी यंत्र है जिससे आप घर बैठे भी पैसा कमा सकते हो दुनिया की  सारी जानकारी आप तुरंत ही पा सकते हो जिनके पास कंप्यूटर में इंटरनेट उपलब्ध है और उनका इंटरेस्ट कंप्यूटर में है और वह एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनना चाहता हो तो उनको आगे जाकर एक अच्छा सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनने से कोई नहीं रोक सकता

अगर आपका भी इंटरेस्ट सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनने मे है या फिर आप बनना चाहते हो एक मोबाइल इंजीनियर या कंप्यूटर इंजीनियर या फिर सॉफ्टवेयर डेवलपर्स और आपको नहीं पता है कि कैसे एक अच्छा सॉफ्टवेयर इंजीनियर मोबाइल इंजीनियर या फिर सॉफ्टवेयर डेवलपर बन सकते हैं

तो आज के इस पोस्ट में आपको काफी डिटेल से समझने को मिलेगा किस तरीके से आप एक अच्छा सॉफ्टवेयर इंजीनियर मोबाइल इंजीनियर या फिर सॉफ्टवेयर डेवलपर बन सकते हैं

सॉफ्टवेयर इंजीनियर कैसे बनें?

सॉफ्टवेयर इंजीनियर क्या है और कैसे बने

सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग की पढ़ाई करने के बाद जो लैपटॉप और कंप्यूटर की सॉफ्टवेयर बनती है जिससे लैपटॉप और कंप्यूटर काम करता है वह एक सॉफ्टवेयर डेवलपर के द्वारा ही बनाया जाता है

तथा मोबाइल की एप्लीकेशन जो बनाता है उन्हें ही सॉफ्टवेयर इंजीनियर या फिर सॉफ्टवेयर डेवलपर कहते हैं सॉफ्टवेयर इंजीनियर एक व्यक्ति होता है जिसे हम सॉफ्टवेयर डेवलपर भी कहते हैं सॉफ्टवेयर इंजीनियर के पास कुछ चीजों का ज्ञान होना चाहिए

एक प्रोफेशनल सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनने के लिए आपके पास कई चीजों का ज्ञान और Coding होना बहुत जरूरी है सॉफ्टवेयर डेवलपर बनने के लिए आपको  पास कंप्यूटर प्रोग्रामिंग लैंग्वेज आनी चाहिए जब तक आपके पास कंप्यूटर प्रोग्रामिंग लैंग्वेज स्किल नहीं आता हो तब तक आप सॉफ्टवेयर इंजीनियर नहीं बन सकते हैं

कंप्यूटर में बैचलर डिग्री करें

एक सॉफ्टवेयर  इंजीनियर बनने के लिए आपको किसी भी कॉलेज से बैचलर की डिग्री करनी होगी तथा किसी भी कंप्यूटर फील्ड मैं जैसे कि कंप्यूटर साइंस इंजीनियरिंग ,  बीसीए ,  बैचलर ऑफ़ इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी ,  इत्यादि जैसी डिग्री कोर्स करना होगा साथ ही साथ आपको हो मन लगाकर पढ़ना पड़ेगा तब जाकर आप एक बेहतर सॉफ्टवेयर डेवलपर बन पाओगे

कंप्यूटर प्रोग्रामिंग लैंग्वेज को सीखे

दोस्तों जिस तरह से हम लोग अपनी बात को दूसरे व्यक्ति तक पहुचाते है उसी तरह computer की भी अपनी एक भाषा होती है Software Engineer बनने के लिए computer प्रोग्रामिंग लैंग्वेज सीखनी काफी इंपॉर्टेंट है |

Software इंजिनियर बनने के लिए Computer programming लैंग्वेज जैसे C लैंग्वेज , C++ , Java , Python , C शार्प इत्यादि सीखना पड़ेगा

बिना कंप्यूटर लैंग्वेज के आप किसी भी सॉफ्टवेयर को नहीं बना सकते हो क्योंकि सॉफ्टवेयर या एप्लीकेशन कोडिंग पर बनता है कंप्यूटर साइंस इंजीनियरिंग ,  बीसीए ,  बैचलर ऑफ़ इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी ,  जैसे कोर्स में अगर आप डिग्री करते हैं इनको करते समय आपको सभी लैंग्वेज सिखाया जाएगा इसलिए आपको इन सब कुछ को ध्यानपूर्वक सीखना चाहिए तब जाकर आप एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर बन पाओगे

प्रोग्रामिंग लॉजिक को स्ट्रांग बनाएं

प्रोग्रामिंग लॉजिक को स्ट्रांग बनाने के लिए आपको बार-बार प्रैक्टिस करनी पड़ेगी कॉलेज में जो भी लैंग्वेज सिखाई जाएगी उसे आपको घर पर आकर रिवीजन करनी पड़ेगी तथा आप जिस जगह पर नहीं समझेंगे आप अपने टीचर से मदद लेकर उनको सीखने का कोशिश करेंगे क्योंकि कंप्यूटर में जितने भी सॉफ्टवेयर बनते हैं उनमें लॉजिक लगाना बहुत जरूरी होता हैं तभी आप एक बेहतर सॉफ्टवेयर इंजीनियर बन सकते हो

सॉफ्टवेयर बनाने की कोशिश करें

दोस्तों जब आप अपनी कॉलेज की पढ़ाई कंप्लीट कर चुके हो तो उसके बाद या कॉलेज करते समय भी आपको सॉफ्टवेयर बनाने की कोशिश करनी चाहिए कंप्यूटर भाषा की अच्छी नॉलेज होने के बाद सॉफ्टवेयर या एप्लीकेशन बनाने की कोशिश आपको जरूर करनी चाहिए यदि आपको सॉफ्टवेयर बनाते समय कहीं पर भी कोई दिक्कत होती है

तो आप अपने शिक्षक से मदद ले सकते हो सॉफ्टवेयर को जितनी बार बनाओगे उतनी बार उसमें  इंप्रूवमेंट आती रहेगी धीरे-धीरे आपको समझ में आने लगेगा कि कैसे एक सॉफ्टवेयर बनता है सॉफ्टवेयर बनाने के लिए आपको काफी मेहनत करनी पड़ेगी सॉफ्टवेयर बनाने के लिए आपको किताबी नॉलेज तथा प्रैक्टिकल नॉलेज होनी आवश्यक है

सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनने के 5 टिप्स

  1. शुरुआत में छोटे-छोटे सॉफ्टवेयर बनाने की कोशिश करें
  2. अपने लॉजिक को स्ट्रांग बनाएं
  3. प्रत्येक दिन कोडिंग की प्रैक्टिस करें
  4. जितनी आप प्रैक्टिस करोगे उतनी ही आपकी सॉफ्टवेयर आसानी से बन जाएगी
  5. अधिक से अधिक प्रैक्टिकल नॉलेज  लेने की कोशिश करें

कंप्यूटर एप्लीकेशन में मास्टर डिग्री करें

दोस्तों अगर आप कंप्यूटर एप्लीकेशन में मास्टर डिग्री लेना चाहते हो तो सबसे पहले आपको बैचलर की डिग्री लेनी पड़ेगी उसके बाद ही आप मास्टर डिग्री  ले पाओगे

अच्छे  सॉफ्टवेयर इंजीनियर के साथ-साथ अगर आप अच्छी सैलरी पाना चाहते हैं तो आपको कंप्यूटर में मास्टर की डिग्री करना बेहद जरूरी है इसीलिए आप मास्टर इन कंप्यूटर साइंस MCS ,  मास्टर इन कंप्यूटर एप्लीकेशन MCA  इत्यादि की कोर्स कर सकते हो

तो गुरु आज की पोस्ट में आपने सीखा कैसे आप एक बेहतर सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग सॉफ्टवेयर डेवलपर्स बन सकते हो बाकी अगर आपको और भी कुछ सॉफ्टवेयर इंजीनियर या फिर सॉफ्टवेयर डेवलपर से रिलेटेड पूछना हो तो नीचे कमेंट बॉक्स में लिखें

Leave a Comment